सिख धर्म का इतिहास

एक ओंकार (ईश्वर एक है), सतनाम (उसका नाम ही सच है), करता पुरख (सबको बनाने वाला), निरभउ (निर्भय), निरवैर (किसी का दुश्मन नहीं), अकाल मूरत (निराकार), अजूनी सभम (जन्म-मरण से दूर) ।।
दोस्तों ये खूबसूरत लाईनें शब्द गुरबानी की है जिन्हें सुनकर बन्दा मंत्रमुग्ध हो जाता है और मन में अलौकिक शांति का अनुभव करता है । जितनी सीतलता इस वाणी में है उतना ही शांत है सिख धर्म

सिख का तात्पर्य है शिष्य ,अर्थात जो लोग गुरुनानक देव जी की शिक्षाओं का अनुसरण करते हैं वो शिष्य (सिख) कहलाते हैं । गुरुनानक देव सिख धर्म के प्रवर्तक तथा प्रथम गुरु थे । सिख धर्म भारत के चार प्रमुख धर्मों में से एक है तथा विश्व में इसका नौंवां स्थान है । यह धर्म हिन्दू धर्म की ही एक शाखा है। सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव ने हिन्दू परिवार में जन्म लिया । गुरुनानक देव ने हिन्दू व मुस्लिम धर्म की शिक्षाओं का लोगों में प्रचार किया । सिखों के पवित्र स्थल को गुरुद्वारा कहते हैं । सिख धर्म के लोग एकेश्वर में विश्वास रखते हैं तथा गुरु का दर्शन व गुरु की महिमा इनके लिए पूजनीय होती है ।

गुरुनानक देव ने एशिया के कई देशों का भ्रमण किया और वहां जाकर अपनी शिक्षाओं को फैलाया । धीरे-धीरे गुरु नानक देव के शिष्य बढ़ते चले गए और यही शिष्य सिख कहलाए  । आगे चलकर इस धर्म पर संकट आ जाता है, मुगल शासकों के सिखों पर अत्याचार बढ़ जाते हैं । ऐसी परिस्थितियों में इन्हें अपनी लड़ाका फौज बनानी पड़ती है। सिखों के दसवें गुरु गोबिंद सिंह ने गुरु पद को समाप्त कर ग्रन्थों को ही अपना गुरु मानकर पूजने का आदेश दिया ।

 

सिख धर्म के दस गुरुओं के नाम

1.गुरु नानक देव

  • जन्म स्थान- तलवण्डी (पाकिस्तान)
  • जन्म-1469 ई.
  • मृत्यु-1539 ई.

2.गुरु अंगद देव

  • जन्म स्थान-हरिके,फिरोजपुर (पंजाब)
  • जन्म-1504 ई.
  • मृत्यु-1552 ई.

3.गुरु अमर दास

  • जन्म स्थान-बसरका, अमृतसर(पंजाब)
  • जन्म-1479 ई.
  • मृत्यु-1574 ई.

4.गुरु रामदास

  • जन्म स्थान-चूना बस्ती, लाहौर (पाकिस्तान)
  • जन्म-1534 ई.
  • मृत्यु-1581 ई.

5.गुरु अर्जुन देव

  • जन्म स्थान- गोइंदवाल,तरन तारन (पंजाब)
  • जन्म-1563 ई.
  • मृत्यु-1606 ई.

6.गुरु हरगोबिन्द

  • जन्म स्थान-गुरु की वडाली,अमृतसर(पंजाब)
  • जन्म-1595 ई.
  • मृत्यु-1644 ई.

7.गुरू हर राय

  • जन्म स्थान-कीरतपुर, रूपनगर (पंजाब)
  • जन्म-1630 ई.
  • मृत्यु-1661 ई.

8.गुरु हर किशन

  • जन्म स्थान-कीरतपुर,रूपनगर (पंजाब)
  • जन्म-1656 ई.
  • मृत्यु-1664 ई.

9.गुरु तेग बहादुर

  • जन्म स्थान-अमृतसर (पंजाब)
  • जन्म-1621 ई.
  • मृत्यु-1675 ई.

10.गुरु गोबिन्द सिंह

  • जन्म स्थान-पटना (बिहार)
  • जन्म-1666 ई.
  • मृत्यु-1708 ई.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!